दो भाइयों की लाशें एक ही कमरे से बरामद

348
दो भाइयों की लाशें एक ही कमरे से बरामद

एक लाश फांसी के फंदे पर, दूसरी खून से लथपथ मिली

पिता वृद्धाश्रम में, बेटों की दर्दनाक मौत

भोपाल की कपड़ा नगरी कहे जाने वाले बैरागढ़ में आज दो भाइयों की लाशें एक ही कमरे में मिलीं । इनमें से एक लाश फांसी के फंदे पर झूलती पाई गई। जबकि दूसरी खून से लथपथ बरामद की गई। मृतकों के पिता अजमेर के वृद्धाश्रम में निवासरत हैं और अब दोनों पुत्रों की मौत ने मामले की गुत्थी बुरी तरह उलझा कर रख दी है।

भोपाल। राजधानी भोपाल की व्यवसायिक नगरी बैरागढ़ को आज दो भाइयों की रहस्यमय मौत से रूबरू होना पड़ गया। यहां के एक फ्लैट से दो युवकों की लाशें बरामद की गईं। मृतक अजमेर के एक वृद्धाश्रम में रहने वाले दौलत राम के बेटों की बताई जाती हैं। पता चला है कि दोनों भाई उक्त मकान में एक साथ ही रह रहे थे। पड़ौसियों का कहना है कि मृतकों के घर से सडऩ भरी बदबू आ रही थी।

इधर दोनों भाई भी तीन चार दिन से दिखाई नहीं दे रहे थे। अत: अनिष्ट की आशंका तो पहले से ही हो रही थी। यह शक उस वक्त यथार्थ में बदल गया। जब पुलिस ने दरवाजा तो एक ही कमरे में दोनों भाई मृतावस्था में पाए गए। फर्क केवल इतना सा था कि एक भाई की लाश खून से लथपथ जमीन पर पड़ी हुई थी। जबकि दूसरा भाई फांसी के फंदे पर झूल रहा था। दरवाजे भीतर से बंद होने के कारण एक पुलिसकर्मी दूसरे फ्लैट की बालकनी के रास्ते अंदर पहुंचा।

Click Here – To Like And Follow Our FaceBook Page

उसने ऊपर पहुंच कर कमरे खोले। तब कहीं जाकर शेष पुलिस दल उस मकान में पहुंच पाया। दोनों लाशों में से एक 7 से 8 दिन पुरानी बताई जा रही हैं। जबकि दूसरी लाश 3 से 4 दिन पुरानी बताई जा रही है। बैरागढ़ थाने के नगर निरीक्षक शिवपाल सिंह कुशवाहा ने बताया कि इलाहाबाद बैंक रोड पर शिव मंदिर के पास एक बिल्डिंग है। इसके फ्लैट में 35 साल का नरेश लालवानी अपने बड़े भाई 37 वर्षीय धर्मेश लालवानी के साथ रहता था।

पुलिस ने बताया कि यह मकान नरेश और धर्मेश का ही है। करीब 8 साल पहले उनके पिता दौलतराम अजमेर में एक वृद्धाश्रम में रहने चले गए। दोनों भाई तभी से साथ में रह रहे थे। उनकी एक बहन के भी अजमेर में होने की जानकारी मिली है। पुलिस को रिश्तेदारों ने बताया कि नरेश बीमार चल रहा था। कुछ दिनों से वह खाना भी नहीं खा रहा था। धर्मेश उसके कारण मानसिक तनाव में था। घटना को लेकर पुलिस अभी कुछ भी बोलने से बच रही है।

अनुमान लगाया जा रहा है कि भारी तनाव के चलते पहले तनावग्रस्त भाई ने बीमार रहने वाले भाई का कत्ल किया। बाद में भाई की हत्या के अपराध बोध से दबकर खुद भी फांसी के फंदे पर लटक गया होगा। लेकिन पुलिस का कहना है कि मामला हत्या का है या फिर आत्म हत्या का, इस बावत अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। पोस्ट मार्टम के बाद ही इस बारे में कुछ हद तक तस्वीर साफ हो पाएगी।

सर्वाधिक पढ़ी गयीं खबरें व आलेख

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here