इज्जत बचाने वाला हीरो ब्लैकमेलर निकला

0
कोरोना इफेक्ट: पिछले साल के मुकाबले सरकार के खाते में कम आए 4300 करोड़

सोना-चांदी, नगदी और एटीएम भी हथियाया

मध्य प्रदेश के ग्वालियर महानगर में एक अजीब मामला सामने आया है। इस मामले में इज्जत बचाने वाला हीरो बाद में ब्लैकमेलर निकला। लडक़ी के फोटो और वीडियो वायरल करने का भय दिखाकर उसने सोना-चांदी, नगदी और एटीएम भी हथियाया। जब लाखों की वसूली हो गई, तो लडक़ी ने अपने माता पिता को बताया। अब पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

ग्वालियर। छत्रीमंडी निवासी पीडि़त युवति के पिता राजेश शिवहरे ने बताया कि लगभग दो साल पहले कदम साहब का बाड़ा निवासी राजा सामंत ने मेरी बेटी को तंग करना शुरू किया। जबरन उसने किसी लडक़े से छेडख़ानी की घटना कराई और बेटी को बचाने के लिए एक हीरो की तरह पहुंच गया। इससे मेरी बेटी प्रभावित हो गई। आरोपी ने उसकी किसी सहेली से मोबाइल नंबर ले लिया और उसे फोन पर तंग करना शुरू कर दिया। युवती ने जब आयुर्वेद कॉलेज में प्रवेश लिया तो उसने वहां भी पीछा नहीं छोड़ा।

हारकर युवती आरोपी के झांसे में आ गई। युवति को युवक ने परेशान करना शुरू किया। फिर उसने युवति से कहा कि मैं तुमसे प्यार करता हूं। तुम्हारे लिए जान दे सकता हूं और किसी की जान ले भी सकता हूं। कॉलेज छात्रा उसके झांसे में आ गई। युवक ने एक बार युवती को जबरन अपने वाहन में बैठाया और उसे सिंदूर लगाकर कुछ फोटो खींच लिए। आरोपी ने उसके कुछ फोटो की फिल्म भी बनाई और उसे ब्लैकमेल करने लगा।

इससे युवती ने भयभीत होकर अपनी मां का एटीएम उसे सौंपा और सोने के गहने भी उसके मांगने पर सुपुर्द कर दिए। अब युवती के पिता ने जनकगंज थाना में आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। आरोपी फरार है और उसे पकडऩे के लिए पुलिस प्रयास कर रही है। आरोपी ने कहा कि वह बहुत प्यार करता है और उससे ही शादी करेगा। आरोपी के पिता का देहांत हो चुका है और वह क्षेत्र में नेतागिरी करता है।

युवती को उसने भावनात्मक रूप से कमजोर कर दिया। इसके बाद आरोपी ने जबरन फोटो वायरल करने की धमकी देकर कई तौला सोना और मां अनीता शिवहरे का एटीएम लेकर दो लाख से ज्यादा रुपए निकाल लिए। जनकगंज थाने में फरियादी ने एटीएम में निकाले गए पैसे का पूरा यौरा और एटीएम से पैसे निकालने का सीसीटीवी फुटेज भी बैंक की मदद से निकलवाकर पुलिस को दिया है।

जनकगंज थाने के आईओ को आरोपी के कॉल रिकार्ड और अन्य फोटो भी दिए गए हैं। फरियादी पिता ने कहा कि मैं मालनपुर की एक फैक्ट्री में काम करता था मैंने वीआरएस ले लिया है। युवक अवैध हथियार भी अपने साथ रखता है। इन घटनाओं से एक सबक तो मिलता है। वो ये कि इश्क मौहब्बत के नाम पर जो कुछ देखने में आ रहा है, वह एक आकर्षण अथवा छलावा ज्यादा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here