कोरोना पेशेंट का वेंटिलेटर हटाया

165
कोरोना पेशेंट का वेंटिलेटर हटाया

ऑक्सीजन रुकने पर संक्रमित की मौत

कोविड-19 (Covid 19) के इलाज को लेकर लापरवाहियों का दौर खत्म नहीं हो रहा है। अब खबर मिली है कि एक कोरोना पेशेंट (Corona Patient) का वेंटिलेटर (Ventilator) हटाया गया तो उसकी मौत हो गई। दावा किया जा रहा है कि कोरोना संक्रमित (Corona Positive) मरीज की मौत ऑक्सीजन (Oxygen) रुकने के कारण हुई है। यह दावा भी हल्का फुल्का न होकर मृतक के मृत्यु पूर्व बयान के आधार पर किया जा रहा है। चिकित्सकों ने हमेशा की तरह इस बार भी खुद को सही साबित करने की कोशिश की है।

नई दिल्ली। सोशल मीडिया (Social Media) पर एक वीडियो वायरल (Video Viral) है। इसे हैदराबाद निवासी एक युवक ने विगत 26 जून को वहां के अस्पताल स्थित पलंग से जारी किया है। इस 26 बर्षीय कोरोना पेशेंट (Corona Patient) युवक का कहना है कि वह सांस नहीं ले पा रहा है क्योंकि डॉक्टर्स ने उसका वेंटिलेटर सपोर्ट हटा दिया है। हैदराबाद के एर्रागड्डा में स्थित गवर्नमेंट चेस्ट हॉस्पिटल के पलंग पर से भेजे गए सेल्फी वीडियो में युवक ने अपने पिता को संबोधित करते हुए कहा कि उन्होंने वेंटिलेटर हटा दिया है।

Click Here – To Like And Follow Our FaceBook Page

पिछले तीन घंटों से ऑक्सीजन सहायता प्रदान करने के मेरे अनुरोध का जवाब नहीं दे रहे हैं। मेरे दिल ने काम करना बंद कर दिया है और केवल फेफड़े काम कर रहे हैं। लेकिन मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं डैडी। बाय डैडी। सभी को बाय, बाय डैडी। मृतक के पिता का कहना है कि वीडियो भेजने के कुछ मिनट बाद ही उनके बेटे की मौत हो गई। अब आपत्ति इस बात को लेकर आ रही है कि चेस्ट अस्पताल के अधीक्षक महबूब खान ने इस आरोप का सिरे से ही खंडन कर दिया है।

उनका कहना है कि उसे वेंटिलेटर सपोर्ट दिया गया था। लेकिन रोगी इतनी गंभीर स्थिति में था कि उसे ऑक्सीजन की आपूर्ति महसूस नहीं हो रही थी। उन्होंने तर्क दिया कि हम हृदय में वायरल संक्रमण के कारण 25 से 40 वर्ष के आयु वर्ग के लोगों में एक नया फिनोमिना देख रहे हैं। उन्हें ऑक्सीजन दिया जाता है लेकिन उन्हें यह अपर्याप्त लगता है।

यदि चिकित्सक के इस तर्क को मान भी लिया जाए तब भी मामले की जांच तो होना ही चाहिए। उसका आधार मृतक का केवल कथन ही न हो। बल्कि वीडियो में यह भी देखा जाए कि जब वो उसे रिकॉर्ड कर रहा था, तब मृतक वेंटिलेटर सपोर्ट पर था या नहीं। यदि उस आखिरी वीडियो में युवक वेंटिलेटर सपोर्ट पर दृष्टव्य नहीं तो यह माना जाना चाहिए कि युवक का मृत्यु पूर्व कथन शत प्रतिशत सही है।

सर्वाधिक पढ़ी गयीं खबरें व आलेख

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here