कारखानों में 8 घंटे ही काम करेंगे कामगार

0
थाने में देखते ही चीख पड़ीं छात्राएं- यही है यही है

पहले 12 घंटे की पारी घोषित कर दी थी सरकार ने

जयपुर। कामगारों के कार्य करने की अवधि को 8 की बजाय 12 घंटे किए जाने के निर्णय का विरोध राजस्थान में अपना काम कर गया। अब वहां की सरकार ने कारखानों में कामगारों के लिए काम के घंटे घटाकर फिर 8 घंटे प्रतिदिन कर दिए हैं। राज्य सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण के फैलने के मद्देनजर 24 अप्रैल को सभी पंजीकृत कारखानों में कामगारों की आवश्यकता को कम करने के लिए काम के घंटे को 8 घंटे से बढ़ाकर 12 घंटे प्रतिदिन कर दिया था।

Read This Also – चीन से मुंह मोड़ रहे उद्योगों को छग लाने की तैयारी में बघेल सरकार

राजस्थान के श्रम मंत्री टीकाराम जोली ने बताया कि पंजीकृत कारखानों में काम के घंटे को 4 घंटे तक बढ़ाने की अनुमति शनिवार को वापस ले ली गई। बता दें कि इसी प्रकार की मांग अन्य प्रदेशों में भी मुखर हो रही है। पड़ौसी राज्य मध्य प्रदेश में भाजपा की सरकार है, वहां पर भी सरकार ने हाल ही में कामगारों की कार्यअवधि 8 घंटे से बढ़ा कर 12 घंटे कर दी थी। वहां के कामगार संगठन भी समया को घटान की मांग कर रहे हैं। मांग करने वालों में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से सम्बद्ध भारतीय मजदूर संघ भी शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here